महान भारतीय भौतिक विज्ञानी के रूप में प्रशिद्ध सत्येन्द्रनाथ बोस का गूगल ने बनाया डूडल।

क्या आप सत्येन्द्र नाथ बोस के बारे में जानते हैं एक बार उन्होंने गणित विषय मे 100 में से 110 नंबर प्राप्त किये थे।

जब सत्येन्द्र नाथ बोस इंटरमीडिएट की पढ़ाई कर रहे थे तब उन्होंने गणित की परीक्षा में सब सवाल हल किये और वो भी अलग तरीके से इसलिए उनको 100 में 110 नंबर मिले थे।

सत्येन्द्र नाथ बोस जी  ने 1916 मे कलकत्ता यूनिवर्सिटी में थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी की स्टडी स्टार्ट की और उन्होंने बोस स्टेटिस्टिक्स और बोस कंडेनसेट की स्थापना की।

भारत सरकार द्वारा सत्येन्द्र नाथ बोस जी को 1954 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन भी सत्येन्द्र नाथ बोस के बहुत बड़े प्रशंसक रहे हैं।

सत्येन्द्र नाथ बोस जी को फादर ऑफ गॉड पार्टिकल के नाम से भी जाना जाता है। सत्येन्द्र नाथ बोस जी का जन्म 1 जनुअरी 1894 को कलकत्ता वेस्ट बंगाल में हुआ था।

सत्येन्द्र नाथ बोस जी के पिता का नाम सुरेंद्र नाथ बोस था। सुरेंद्र नाथ बोस जी ईस्ट इंडियन रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग में कार्य करते थे।  सत्येन्द्र नाथ बोस जी की आरंभिक शिक्षा एक साधारण स्कूल में हुई।

सत्येन्द्र नाथ बोस जी के खोज को बोस - आइंस्टिन स्टेटिस्टिक्स के नाम से भी जाना जाता है। 
सत्येन्द्र नाथ बोस एक वैज्ञानिक होने के साथ साथ एक राजनेेेेेता भी थे।

सत्येन्द्र नाथ बोस जी 1952 से 1956 तक राज्यसभा के सदस्य भी रह चुके हैं। 4 जून 2022 को गूगल ने डूडल बनाकर सत्येन्द्र नाथ बोस जी को सम्मानित किया।

सत्येन्द्र नाथ बोस जी का भारत मे क्रिस्टल विज्ञान की दुनिया मे बहुत ही उल्लेखनीय योगदान है। इसके लिए बोस जी ने क्रिस्टल लैब का निर्माण करवाया।