How to become Mutual fund distributor

आज के इस लेख में हम आपके कुछ सवालों जैसे कि How to become Mutual fund distributor, how can become mutual fund agent, how can i become mutual fund distributor, how to be a mutual fund agent in india, how to be a mutual fund distributor, how to be a public mutual fund agent, how to become a certified mutual fund advisor, how to become a mutual fund advisor, how to become a mutual fund advisor in india, how to become a mutual fund agent, how to become a mutual fund agent in india,how to become a mutual fund distributor को कवर करने जा रहे हैं ताकि आपको हाऊ तो बिकम अ म्यूच्यूअल फण्ड डिस्ट्रीब्यूटर इन इंडिया का सही answer मिल सके।

Mutual fund distributor या Mutual fund advisor भारत में युवाओं के लिए एक बहुत ही बेहतरीन अवसर है।

how to become mutual fund distributor

क्योकि भारत की विशाल जनसंख्या, सामाजिक में परिवर्तन (एकल परिवार, दोनों पति और पत्नी काम कर रहे हैं) और साथ ही साथ आर्थिक आदतों (Loans का उपयोग) को देखते हुए वित्तीय के लगभग सभी क्षेत्रों में अवसर है।

How to become Mutual fund distributor

यदि आपके मन मे भी यही सवाल है कि Mutual fund distributor kaise bane और mutual fund distributor banke paise kaise kamaye तो यह article आपको जरूर पढ़ना चाहिए।

अगर आप Mutual fund distributor बनना चाहते हैं तो आपको इन 3 steps में पूरी जानकारी मिल जाएगी:-

1. NISM-Series-V-A : 

Mutual Fund Distributors Certification Examination पास करें: म्यूचुअल फंड वितरक प्रमाणन परीक्षा (म्यूचुअल फंड एजेंट परीक्षा)

जबकि Mutual Fund Distributor बनने के लिए कोई निश्चित न्यूनतम पात्रता मानदंड नहीं है, कोई भी व्यक्ति जो NISM Series V-A की म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर परीक्षा पास करने में सक्षम है, एजेंट / वितरक बनने के लिए पात्र है। हालांकि परीक्षा को पाास करने केेकेे लिए तैयारी की आवश्यकता होती है। 

एनआईएसएम वेबसाइट के अनुसार, केवल 60% परीक्षार्थी ही इस परीक्षा को पास करते हैं, इसलिए परीक्षा को लापरवाही से नही देना चाहिए। हालांकि आप एग्जाम पास करने के लिए mock test join कर सकते हैं है। एनआईएसएम द्वारा एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जाता है जिसे एनआईएसएम कंटिन्यूइंग प्रोफेशनल एजुकेशन (सीपीई) कहा जाता है, जिसे पहले एएमएफआई रिफ्रेशर कोर्स कहा जाता था। इस परीक्षा में भाग लेने के लिए 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को छूट उपलब्ध है।

परीक्षा और सीपीई दोनों के लिए पंजीकरण और नामांकन प्रक्रिया https://certifications.nism.ac.in पर पूरी तरह से ऑनलाइन किया जा सकता है।

एनआईएसएम सीरीज वीए म्यूचुअल फंड वितरक प्रमाणन परीक्षा के लिए शुल्क रु। 1500/- देना पड़ता है और एनआईएसएम म्यूचुअल फंड सीपीई रु. 2500 / – देना पड़ता है और प्रमाण पत्र 10 दिनों के भीतर प्राप्त हो जाता है।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ सिक्योरिटीज मार्केट्स (एनआईएसएम) प्रमाणन के बारे में जानकारी

National institute of securities market (NISM) द्वारा एक परीक्षा आयोजित की जाती है, उस परीक्षा को पास करने के बाद आपको एक प्रमाणन प्राप्त होगा। परीक्षा में 100 प्रश्न होते हैं सभी प्रश्न 1 अंक के होते हैं और इसकी अवधि 2 घंटे होती है। परीक्षा पास करने के लिए आपको 50% अंक प्राप्त करने होंगे। इसमे कोई negative marking नही होती है।

परीक्षा के पीछे मुख्य उद्देश्य हैं:

  • म्यूचुअल फंड के मूल सिद्धांतों, Mutual fund के बारे में जानकारी, इसकी संरचना, विभिन्न प्रकार की योजनाओं/योजनाओं की प्रमुख विशेषताओं आदि के बारे में ज्ञान प्रदान करना।
  • म्यूचुअल फंड के सभी प्रकार के लेखांकन, मूल्यांकन और कराधान पहलुओं की ओर उन्मुखीकरण।
  • संभावित ग्राहकों की वित्तीय योजना कैसे करना है उसकी जानकारी
  • म्युचुअल फंड उत्पादों को बाजार में कैसे बेचना है उन सबकी जानकारी
  • ग्राहकों के साथ long term relation building कैसे करना है।
  • ग्राहकों द्वारा विभिन्न प्रश्नों का उत्तर कैसे देना है।

2: Association of mutual fund of india (AMFI) के साथ Computer age management services(CAMS) कार्यालय के माध्यम से पंजीकरण करें

एक बार जब आप एनआईएसएम सीरीज वी-ए: म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर्स सर्टिफिकेशन परीक्षा पास कर लेते हैं, तो अब आप mutual fund distributor बनने के योग्य हो जाते हैं। अब आपको एक छोटे आवेदन पत्र AMFI रजिस्ट्रेशन नंबर (ARN) एप्लीकेशन फॉर्म के साथ know your distributor (KYD) प्रक्रिया से गुजरना होगा। यह एक छोटा आवेदन पत्र है जिसमें आपके विवरण होता है जैसे कि नाम, पता, फोटोग्राफ, योग्यता, एनआईएसएम म्यूचुअल फंड वितरक परीक्षा का विवरण, बैंक विवरण, भुगतान विवरण होता है। इसके लिए 3000/- rs का fees देना पड़ता है।

इसके बाद आपके द्वारा भरे हुए फॉर्म को किसी भी सीएएमएस कार्यालय में जमा करना होगा। यदि आप kyd के अनुरूप नहीं आये हैं, तो आपको अपने बायोमेट्रिक्स (उंगलियों के निशान) के साथ अपना फॉर्म जमा करने के लिए Computer age management services के कार्यालय में शारीरिक रूप से उपस्थित होना होगा। एक बार प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आपको जल्द ही आपके पंजीकृत पते पर अपना एआरएन कार्ड प्राप्त हो जाएगा।

3: Asset management company (AMC) के साथ पंजीकरण करें

अब जब आपके पास ARN है, तो आप म्यूचुअल फंड वितरित कर सकते हैं और कमीशन ले सकते हैं। हालांकि, काम शुरू करने से पहले एक और छोटी प्रक्रिया है। जिसके लिए आपको प्रत्येक म्यूचुअल फंड हाउस और एसेट मैनेजमेंट कंपनी के साथ पंजीकरण करना होगा ताकि आपको कमीशन और आवेदन पत्र प्राप्त हो सकें।

बहुत सारे म्यूचुअल फंड हाउस हैं जैसे कि एचडीएफसी म्यूचुअल फंड, एक्सिस म्यूच्यूअल फण्ड, रिलायंस म्यूचुअल फंड, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड, बिड़ला सन लाइफ म्यूचुअल फंड, एसबीआई म्यूचुअल फंड इत्यादि इनमे से किसी भी शीर्ष फंड हाउस का चयन कर सकते हैं।

यदि आपको प्रत्येक म्यूचुअल फंड के साथ व्यक्तिगत रूप से पंजीकरण करने की परेशानी से बचना हैं तो आप एनजे इन्वेस्ट, फंड्स इंडिया आदि जैसे राष्ट्रीय वितरकों के साथ पंजीकृत हो सकते हैं। इससे आप प्रत्येक mutual fund company के साथ अलग अलग registration करने की परेशानी से बच सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको आपके commission का एक हिस्सा उनको देना होगा।

Benefits of becoming mutual fund distributor

Security exchange board of india के अनुसार फरवरी 2019 तक भारत में 1,24,000 mutual fund distributor हैं। mutual fund distributor बनने के कई लाभ हैं जैसे कि

  • म्यूच्यूअल फण्ड के माध्यम से अर्जित ब्रोकरेज द्वारा आप अपने लिए आय का एक अच्छा स्रोत बना सकते हैं।
  • आप अपनी कम उम्र में ही अच्छी कमाई शुरू कर सकते हैं।
  • आप अपने खुद के मालिक हैं, आपको किसी बॉस के अधीन काम नहीं करना है। । आप अपनी मर्जी से और अपने तरीके से काम कर सकते हैं।
  • इसके लिए किसी प्रारंभिक पूंजी की आवश्यकता नहीं होती है।
  • काम करने के समय में लचीलापन रहेगा क्योंकि नौकरी के विपरीत, कार्यालय का कोई समय नहीं है।
  • आप असीमित विकास की योजना बना सकते हैं। जितना अधिक आप म्यूच्यूअल फण्ड बेचकर व्यापार लाएंगे उतना ही अधिक आप कमा सकते हैं।
  • आपके कोड के तहत जितना अधिक AUM बढ़ता है, उतना अधिक ट्रेल कमीशन आपको प्राप्त होगा।

How to become successful Mutual fund distributor

क्योंकि सफल होने का अलग-अलग लोगों के नजरों में अलग-अलग अर्थ होता है, इसलिए आपको अपने स्वयं के सफलता मानकों को परिभाषित करना होगा, कि आपके नजर में सफलता का क्या मतलब है।

कुछ लोग अच्छे relation building पर बहुत जोर देते हैं, भले ही उस relation building से बिज़नेस कम भी हो जाये तो कोई बात नही। कुछ लोग सिर्फ business करने में ध्यान देते हैं और इसे पूरे देश के सभी शहरों में फैलाना चाहते हैं। लेकिन सबसे पहले आपको अपने सफलता का मतलब define करना पड़ेगा। कि आपके लिए सफलता का क्या अर्थ है।

मुझे लगता है कि सबसे महत्वपूर्ण बात work life balance और enjoyment है। यदि आप अपने business को enjoy कर रहे हैं तो आप जरूर सफल हो जाएंगे।

एक mutual fund distributor में ये सारे गुण होने चाहिए:

Marketing और Networking: कोई भी प्रोडक्ट मार्केटिंग के बिना sell नही की जा सकती,आपको लोगों को यह बताने की जरूरत है कि आप ईमानदारी से क्या कर सकते हैं। आपको अपने आप को सफल बनाने के लिए बार बार लोगो से मिलना चाहिए जो आपके संभावित Customer हो सकते हैं।

Honesty: एक mutual fund distributor या adviser को honest होना चाहिए ताकि लोग आपकी बात पर यकीन कर सकें।

Boost your knowledge: यह सलाह देने और दूसरों की मदद करने के लिए अपने knowledge को boost करके उस knowledge का उपयोग करने का व्यवसाय है। इसलिए हमारे knowledge में value addition के लिए बहुत जरूरी है कि हम निरंतर सीखतें रहें।

Time commitment: एक mutual fund distributor के रूप में वास्तव में सफल होने के लिए आपको कम से कम 5-10 वर्षों की आवश्यकता होगी।

क्लाइंट फर्स्ट एटीट्यूड: उनके लिए क्लाइंट इंटरेस्ट हमेशा पहले आता है, वे लॉन्ग टर्म रिलेशनशिप को अगले 1 साल में बिजनेस से कहीं ज्यादा महत्व देते हैं। इसलिए हमेशा इसी सोच के साथ कार्य करते रहें।

सर्विस माइंडसेट: म्यूचुअल फंड एक दीर्घकालिक निवेश है, यह उत्पाद के बारे में इतना नहीं है, बल्कि व्यक्ति के बारे में बहुत कुछ है। आप अपने ग्राहकों की सेवा कैसे करते हैं, उनसे बात करते हैं, उनका सम्मान करते हैं, उन्हें सलाह देते हैं कि आप उनके लिए जो उत्पाद लाते हैं, उससे कहीं अधिक महत्वपूर्ण है।

How much a mutual fund distributor earn

Mutual fund distributor की दो अलग-अलग श्रेणियां हैं:

Commission based:

आम तौर पर, उन्हें ‘Mutual fund distributor’ कहा जाता है क्योंकि वे ग्राहक से शुल्क के बजाय निर्माता से Commission कमाते हैं। यहां कुल Commission म्यूचुअल फंड हाउस तय करती है।लेकिन security exchange board of india ने म्यूचुअल फंड हाउस के लिए 2.5% की सीएपी परिभाषित की है – एक फंड हाउस आम तौर पर अपने mutual fund distributors के साथ 1 से 1.5% शेयर करता है।

Fees based:

इन्हें mutual fund advisor भी कहा जाता है। क्योंकि वे निर्माता से कमीशन नही लेते बल्कि सलाहकार शुल्क लेते हैं। ऐसे मामले में यह पूरी तरह से सलाहकार पर निर्भर करता है कि वह mutual fund advise करने के लिए आपसे कितना शुल्क लेगा? वर्तमान में mutual fund advisor पोर्टफोलियो आकार का 0.5 से 1.5% चार्ज कर रहे हैं। कुछ mutual fund advisor आपसे कुछ भी शुल्क नहीं लेते हैं, लेकिन अलग अलग marketing companies के साथ आपका data share करके उत्पादों की क्रॉस सेलिंग द्वारा कमीशन अर्जित करके पैसा कमाते हैं।

How does a mutual fund distributor make money

एक Mutual fund distributor निवेशक को mutual fund sheme में साइन अप या enroll करवाता है जिसके लिए mutual fund distributor को कमीशन मिलता है। asset management company, Mutual fund distributor को कमीशन का भुगतान करती है। म्यूचुअल फंड और फंड हाउस के प्रकार के आधार पर कमीशन अलग-अलग होते हैं। 

Mutual fund distributor निवेशकों को म्यूचुअल फंड और फंड हाउस से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी भी प्रदान करता है। इसके अलावा, Mutual fund distributor लेनदेन करने में निवेशकों की सहायता भी करता है। लेन-देन जैसे investment, redemption ,फंड के बीच स्विच करना आदि। इसके अलावा Mutual fund distributor अपने निवेशक के पोर्टफोलियो की समय-समय पर समीक्षा करते हैं और आवश्यक बदलाव का सुझाव देते हैं।

हमने इस लेख में आपके कुछ सवालों का जवाब देने की कोशिश की है जैसे कि how to become a mutual fund distributors in india, how to become a successful mutual fund distributor, how to become distributor of mutual fund, how to become distributor of mutual funds in india, how to become hdfc mutual fund agent, how to become icici mutual fund agent, how to become lic mutual fund agent, how to become mutual fund advisor in india, how to become mutual fund agent इत्यादि।

Leave a Comment