direct Selling और Pyramid Scheme मे क्या अंतर है?

Direct selling aur Pyramid scheme me kya antar hai?

आज इस लेख मर हम direct Selling और Pyramid Scheme मे क्या अंतर है इसके बारेे में जानेेंगे।

Defination

Direct selling” का मतलब यह है कि Cunsumers को, आम तौर पर उनके घरों में या उनके Workplace पर या किसी तरह के Demonstration के माध्यम से, Direct Selling के नेटवर्क के एक हिस्से के रूप में Products का Distribution और Seling या Services प्रदान करना।

direct Selling और Pyramid Scheme मे क्या अंतर है
Direct selling vs Pyramid schemes

इसके विपरीत Pyramid Scheme एक ऐसा Business Modal है जिसमें Members को और Members बनाने के लिए पैसा या Service देने का Promise किया जाता है ताकि Members ज्यादा से ज्यादा लोगो को Scheme के साथ Join करवा सकें। जैसे जैसे लोग बढ़ते जाते है, नये लोगों की संख्या कम हो जाती है, जिससे अधिकांश Members को Profit होता ही नहीं है। अक्सर Pyramid Schemes टिकाऊ नहीं होती हैं और अक्सर Illigeal भी होती है।

Objective

Direct selling का objective सीधे consumers तक प्रोडक्ट्स और सेवाओं को पहुचाना होता है, जबकि Pyramid Scheme में प्रोडक्ट्स के Marketing में ज्यादा ध्यान नही दिया जाता है,  Pyramid Scheme में ज्यादा ध्यान नये Members  को Join करवाने और उनसे पैसे collect करने में होता है।

Joining fees

Direct Selling में कोई Joining fees नही होती है , जबकि Pyramid Scheme में Training और Starter kit  के नाम से Joining Fees  लिया जाता है, जो कि  Non refundable  होता है।

Plans and Schemes

Direct selling में Plans , Product के Selling value पर निर्भर होता है, जबकि Pyramid Scheme में Plans नए Members के जोइनिंग से जो पैसा आता है उसपे Depend करता है।

Qualty of Products

Direct selling में प्रोडक्ट्स अच्छी क्वालिटी के होते है, जबकि Pyramid scheme में प्रोडक्ट्स दिखावटी होते हैं और क्वालिटी भी अच्छी नहीं होती है।

Buyback या Guarantee of Products

डायरेक्ट सेलिंग में प्रोडक्ट्स पे Buyback या Return करने की guarantee होती है जबकि पिरामिड स्कीम में Products को Return करने की कोई गारंटी नही होती है।

Exit policy

डायरेक्ट सेलिंग में आप कभी भी प्रोडक्ट्स को Return करके बिना किसी Cost के Exit हो सकते हैं, जबकि पिरामिड स्कीम में Exit Policy नही है।

Incentives या Bonus

Direct Selling में बोनस प्रोडक्ट के सेलिंग पे निर्भर करता है ना कि नए लोगो को जॉइन करवाने पर, और इसका पेमेंट बैंक एकाउंट में सीधे ट्रांसफर कर दिया जाता है, जबकि पिरामिड स्कीम में बोनस नए Members के जॉइन करने पर निर्भर करता है और अक्सर बोनस Members के द्वारा ही डिरेक्टडे दिया जाता है।

Pyramid scheme को कैसे पहचानें?

  • क्या आपको Distributor बनने के लिए starting बहुत पैसा निवेश करना पड़ रहा है जिसे one time ट्रेनिंग फीस बोला जा रहा है। क्योकि किसी भी Network marketing company में startup के लिए कोई पैसा charge नही किया जाता।
  • क्या आपसे inventory के नाम से पैसा लिया जा रहा है और अगर पैसा लिया भी जा रहा है तो क्या Inventory को कंपनी buy back करेगी। क्योकि Network marketing company buyback की gurrantee देती है।
  • क्या कंपनी प्रोडक्ट्स के सेलिंग के बजाय लोगो को join करवाने में ज्यादा focus कर रही है। क्योकि direct सेल्लिंग में ज्यादा focus प्रोडक्ट के सेलिंग में होता है क्योंकि direct selling में कमीशन प्रोडक्ट के सेलिंग से बनता है ना कि सिर्फ नए लोगो को join करवाने से।
  • क्या company का plan ऐसे design किया गया है जिसमे बजाय प्रोडक्ट के सेलिंग के लोगो को Join करवाने से ज्यादा पैसा बनेगा। तो यह pyramid scheme हो सकता है।
  • क्या कंपनी आपके नए लोगो को join करवाने के लिए पैसे दे रही है तो यह Pyramid scheme का एक example है क्योंकि Multi level marketing में प्रोडक्ट के सेलिंग से पैसा आता है ना कि लोगो को जॉइन करवाने से।

Leave a Comment